There was an error in this gadget

Thursday, 5 September 2013

a

आज शिझक दिवस के अवसर पर डा .सर्वपल्ली राधाकृष्णन को याद करते है और नमन . दरभंगा और राधाकृष्णन का गहरा तलूक रहा है .सितम्बर १ ९ ३ ९ को दरभंगा के डा . कामेश्वर सिंह ने मालवीय जी महराज द्वारा बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के कुलपति पद से सेवानिर्वती पर स . राधाकृष्णन को कुलपति पद पर नियुक्त करने का प्रस्ताव दिया और राधाकृष्णन कुलपति बने बनारस से लोटने के बाद उन्होंने कामेश्वर सिंह को १ ० अक्टूबर को अपने मद्रास का पता ३ ० ,Edward Eliot Road ,Mylapor , Madras के बारे में सूचित किये ,२ ४ अक्टूबर को कामेश्वर सिंह ने उन्हें दरभंगा में अपने सुबिधानुसार एक व्याख्यान के लिए आमंत्रित किया जिसे उन्होंने स्वीकार किया था उन्हें 9th Nov. को पटना में Hindu University के Convocation adress के लिए पटना आना स्वीकार करते हुए उन्होंने ९ तारीख को इ .आइ .रेलवे मेल से बॉम्बे से पटना आने के सम्बन्ध में पत्र लिखते हुए और दरभंगा आने की स्वीकृति दी थी कामेश्वर सिंह ने लिखा की दरभंगा के बड़ी संख्या में लोग आपको सुनना चाहते हैं l

No comments:

Post a Comment